Sunday, July 3, 2022
More
    Homeराजनीतिबसपा की कमजोरी की नब्ज टटोल रहे हैं मायावती के भतीजे

    बसपा की कमजोरी की नब्ज टटोल रहे हैं मायावती के भतीजे

    • हर तबके में बहनजी का संदेश पहुंचाने में जुटे आकाश आनंद

    Bsp news : लखनऊ। विदेश से बिजनेस की पढ़ाई करके लौटे बसपा सुप्रीमो मायावती के भतीजे आकाश आनंद ने पार्टी की कमजोरी का नब्ज टटोलना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में देश के कई राज्यों में बसपा के पदाधिकारियों के साथ ही सामाजिक संगठनों के कार्यक्रम में भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेना शुरू कर दिया है। इससे बसपा में उत्साह की ज्वर उफनाना शुरू कर दिया है।

    बताते चलें कि बसपा के राष्टï्रीय कोआर्डिनेटर आकाश आनंद साउथ के कई राज्यों के साथ राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में बसपा की कमजोरी का आकलना करना शुरू कर दिया है। वैसे तो आकाश आनंद की पढ़ाई विदेश में हुई है। बिजनेस की डिग्री लेकर दिल्ली में एक कम्पनी के सीईओ हैं। अपनी कम्पनी के बेहतर परफार्मेंस के लिए अथक प्रयास करते रहते हैं। ठीक उसी तरह से अब बसपा की राजनीतिक विरासत संभालने के लिए सामाजिकता का पाठ पढऩा शुरू कर दिया है। वाराणसी के बीएचयू आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए।

    यहाँ पढ़े:राजनैतिक पप्पू के बाद बसपा के डब्बू की हुई इंट्री!

    इस कार्यक्रम में शिरकत किए हुए एक बहुजन छात्र नेता ने कहा कि वैसे यह कार्यक्रम एक अराजनैतिक था। लेकिन उनके विचारधारा बहुजन समाज के महापुरूषों से प्रेरित है। जातियों में बंटे बहुजन समाज को एक छत के नीचे कैसे लाया जाए, इस पर मंथन कर रहे हैं। इसके लिए देश भर के बहुजन बुद्घिजीवियों से मिल-जुल रहे हैं।

    इस कार्यक्रम में शिरकत किए एक बहुजन समाज के प्रोफेसर ने बताया कि ऑफ द रिकार्ड बताया कि आकाश आनंद बसपा को हाईटेक बनाने और जमीनी स्तर पर बहुजनों को जोडऩे का रोडमैप बसपा सुप्रीमो मायावती के निर्देशन में तैयार किया है। यह बदलाव बसपा पर भी दिख रहा है। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय पाखण्डवाद और कुरीतियों को बोल-बाला बढ़ रहा है। इस समस्या का निदान सिर्फ और सिर्फ बहुजन और अल्पसंख्यक यानी मुस्लिम समाज मिलकर कर सकते हैं। बसपा के नेशनल कोआर्डिनेटर आकाश आनंद बहनजी का संदेश लेकर समाज के हर तबके में जा रहे हैं। जिससे देश और प्रदेश में बहुजन समाज की सत्ता दिलाई जा सके।

    Bsp news


    यहाँ पढ़े:BSP Party : 14 साल से राजनीतिक भागेदारी देने के बावजूद मुस्लिमों के दिल में नहीं उतर पाई बसपा!

    ई-पेपर:http://www.divyasandesh.com

    RELATED ARTICLES
    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments