Sunday, July 3, 2022
More
    Homeउत्तर प्रदेशGyanvapi masjid : ज्ञानवापी मुद्दा उछाल कर जनता का ध्यान भटकाना भाजपा...

    Gyanvapi masjid : ज्ञानवापी मुद्दा उछाल कर जनता का ध्यान भटकाना भाजपा का मकसद: अखिलेश

    Gyanvapi masjid

    Gyanvapi masjid : आजमगढ़। समाजवादी पार्टी (SP) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि महंगाई से जनता का ध्यान हटाने और सरकारी उपक्रमों को बेचने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) सरकार ज्ञानवापी और ताजमहल जैसे मुद्दों को हवा दे रही है।

    श्री यादव ने मंगलवार को यहां कहा कि भाजपा ने अपने फायदे के लिए कई विपक्ष बना दिए हैं और आजकल सपा से मुसलमानों को दूर करने की कई दलों की साजिश भी चल रही है ,जिसे जनता कामयाब नहीं होने देगी । उन्होंने कहा कि सरकार बुनियादी मसलों पर काम नहीं कर रही है । भाजपा की साजिश है, देश में ‘वन नेशन वन उद्योगपति’ की नीति को कारगर बनाया जाए। महंगाई बेरोजगारी पर सरकार के पास कोई जवाब नहीं है । केवल राशन जैसी सहूलियत हटा ली जाये तो यहां के हालात भी श्रीलंका जैसे हो जाएंगे।

    सपा सुप्रीमो आज आजमगढ़ जिले के फूलपुर के पूर्व विधायक श्याम बहादुर यादव की माता जी व पूर्व विधान परिषद सदस्य राम आसरे विश्वकर्मा की पत्नी की मृत्यु के बाद इनके पैतृक गांव श्रद्धांजलि सभा में शिरकत करने आए थे।

    उन्होने कहा कि समाजवादियों का आजमगढ़ से गहरा रिश्ता है। आने वाले दिनों में भी जनता सपा के साथ रहेगी। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा बुनियादी सवालों से जनता का ध्यान भटका रही है। इस समय महंगाई सबसे बड़ा मुद्दा है जो जनता के लिए परेशानी का सबब बनता जा रहा है। जब जब भाजपा को मूल मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाना होता है तब वह मंदिर मस्जिद जैसे मुद्दों को उछालती है। ज्ञानवापी और ताजमहल जैसे मामले भी उन्हीं में से एक है।

    श्री यादव ने आश्चर्य जताया कि जिस प्रधानमंत्री ने ताजमहल से एक ट्रिलियन डॉलर आय अर्जित करने की बात कही थी, आज उसी ताजमहल के बारे में क्या-क्या कहा जा रहा है। प्रधानमंत्री के लखनऊ दौरे पर टिप्पणी करते हुए कहा कि जो 22 मंत्री हटाए गए हैं और जो 22 मंत्री बनाए गए हैं काम तो कुछ हो नहीं रहा है आपस में खींचतान जारी है उन्हीं को एक करने के लिए फोटो सेशन चलाया जा रहा है ।


    यहाँ पढ़े:indian oil corporation : इंडियन ऑयल के चौथी तिमाही के शुद्ध लाभ में गिरावट

    ई-पेपर:http://www.divyasandesh.com

    RELATED ARTICLES
    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments