Friday, May 20, 2022
More
    Homeउत्तर प्रदेशYogi Govt 2.0 Cabinet Meeting: योगी आदित्यनाथ 2.0 सरकार का पहला फैसला-...

    Yogi Govt 2.0 Cabinet Meeting: योगी आदित्यनाथ 2.0 सरकार का पहला फैसला- 15 करोड़ जनता को अगले तीन माह तक मिलता रहेगा मुफ्त राशन

    लखनऊ। Yogi Govt 2.0 Cabinet Meeting: उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के दूसरे कार्यकाल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में शनिवार को कैबिनेट बैठक में प्रधानमंत्री अन्न योजना को तीन महीने तक बढ़ाने का निर्णय लिया गया। मार्च 2022 के लिए लागू की गई योजना अब मई तक जारी रहेगी। इसमें 15 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन देने का प्रावधान है।

    योगी आदित्यनाथ सरकार का पहला निर्णय, अगले तीन और माह तक खाद्यान्न योजना के तहत प्रदेश के 15 करोड़ लोगों को खाद्यान्न के साथ दाल, नमक, चीनी आदि मिलता रहेगा। योजना मार्च 2022 में खत्म हो रही थी। अबकी भाजपा की जीत में मुफ्त राशन की इस योजना का जबरदस्त इंपैक्ट रहा है।

    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कैबिनेट मीटिंग के बाद मीडिया को इस निर्णय की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हमने नव गठित सरकार का पहला प्रधानमंत्री अन्न योजना को तीन महीने तक बढ़ाने का निर्णय लिया है। कोरोना काल में प्रधानमंत्री अन्न योजना शुरू हुई थी। देश की 80 करोड़ जनता को इसका लाभ मिल रहा था। पहले यह योजना मार्च 2022 तक ही थी। इस योजना के तहत खाद्यान्न के साथ दाल और नमक, चीनी आदि का पैकेट भी दिया जा रहा था। अगले तीन महीनों तक प्रदेश के 15 करोड़ लोगो को यह लाभ मिलता रहेगा। हमारी पहली कैबिनेट ने यह निर्णय लिया है। प्रेस कान्फ्रेंस में उनके साथ डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, डिप्टी सीएम बृजेश पाठक तथा कैबिनेट मंत्री सुरेश कुमार खन्ना व स्वतंत्र देव सिंह मौजूद थे।

    Yogi Adityanath Government 2.0
    Yogi Adityanath Government 2.0

    Yogi Adityanath Government 2.0: वोट को थामने की रणनीति की तैयार

    योगी आदित्यनाथ सरकार 2.0 की पहली कैबिनेट बैठक में भाग लेने भाजपा की सरकार में पहली बार मंत्री बने निषाद पार्टी के डा. संजय निषाद तथा सपा से भाजपा में आने वाले नितिन अग्रवाल भी थे। इनके साथ जितिन प्रसाद तथा संदीप सिंह भी थे। राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार संदीप सिंह ने कहा कि आज पहली कैबिनेट बैठक है और आज की इस बैठक में संभव है कि महत्वपूर्ण निर्णय लिया जाएगा। कैबिनेट बैठक में शामिल होने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य तथा ब्रजेश पाठक भी पहुंचे। सुरेश कुमार खन्ना तथा पहली बार कैबिनेट मंत्री बने राकेश सचान भी बैठक में थे।

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को कैबिनेट की बैठक के बाद वह वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आगे की कार्ययोजना पर भी चर्चा करेंगे। इसके बाद योगी आदित्यनाथ आज राजभवन में प्रोटेम स्पीकर के शपथ ग्रहण समारोह में भी शामिल होंगे। कैबिनेट की बैठक के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राजभवन का रुख करेंगे। जहां पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल प्रोटेम स्पीकर रमापति शास्त्री को शपथ दिलाएंगी । राजभवन से आने के बाद योगी सुबह 11:30 बजे योजना भवन में मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिवों व अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के संग बैठक करेंगे। वैसे शनिवार को सचिवालय में अवकाश रहता है, लेकिन सीएम योगी आदित्यनाथ बंदी के बावजूद वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अपनी प्राथमिकताओं को लेकर चर्चा करने के साथ ही उनको प्रमुख निर्देश देंगे। वह बैठक में सचिव स्तर से ऊपर के आला अधिकारियों को संबोधित करेंगे।

    उनके साथ इस बैठक सभी वरिष्ठ मंत्रियों के साथ शासन के आला अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। इस बैठक में विधानसभा चुनाव के पहले प्रसारित किया गया घोषणा पत्र के मुख्य बिंदु को लागू करने को लेकर विचार विमर्श किया जाएगा। इसके बाद क्रमवार लागू करने की प्रक्रिया तय की जाएगी।

    गौरतलब है कि शुक्रवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश मे लगातार दूसरी बार गठित भाजपा सरकार के मंत्रियों ने शपथ ली है। जिसमें डिप्टी सीएम के रूप में केशव प्रसाद मौर्य व ब्रजेश पाठक तथा कैबिनेट मंत्री के रूप में सुरेश कुमार खन्ना, सूर्य प्रताप शाही, स्वतंत्र देव सिंह, श्रीमती बेबी रानी मौर्य, लक्ष्मी नारायण चौधरी, जयवीर सिंह, धर्मपाल सिंह, नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’ भूपेन्द्र सिंह चौधरी, अनिल राजभर, जितिन प्रसाद, राकेश सचान, अरविन्द कुमार शर्मा, योगेन्द्र उपाध्याय, आशीष पटेल, संजय निषाद ने शपथ ली। राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार की जिम्मेदारी नितिन अग्रवाल, कपिल देव अग्रवाल, रवीन्द्र जायसवाल, सन्दीप सिंह, श्रीमती गुलाब देवी, गिरीश चन्द्र यादव, धर्मवीर प्रजापति, असीम अरुण, जयेन्द्र प्रताप सिंह राठौर, दयाशंकर सिंह, नरेन्द्र कश्यप, दिनेश प्रताप सिंह, अरुण कुमार सक्सेना, दयाशंकर मिश्र ‘दयालु’ को मिली है।

    Read more:WHO ने भी माना भारत की पारंपरिक चिकित्सा पद्धति का लोहा, ग्लोबल सेंटर स्थापित करने का किया करार, पीएम मोदी ने कही ये बात

    E-paper:http://www.divyasandesh.com

    RELATED ARTICLES
    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments