Saturday, December 3, 2022
More
    Homeउत्तर प्रदेशAccording to the name 'Sangam' became 'UP Bhawan'

    According to the name ‘Sangam’ became ‘UP Bhawan’

    • खाने की गुणवत्ता के साथ बेहतर हुई सफाई-व्यवस्था
    • अथितियों को मिल रहा है लजीज व्यंजन, ताजे फलों का जूस, अंकुरित सलाद
    • अथितियों को सेविंग-डेंटल किट और स्लीपर उपलब्ध कराने की योजना
    • ऑन लाइन होगी कमरों की बुकिंग

    अभय राज
    लखनऊ। योगी सरकार राजकीय अतिथि गृहों में सेवा-सत्कार की सुविधाओं में इजाफा करने पर फोकस कर दिया है। पहले राज्य सम्पत्ति विभाग के अधीन अतिथि गृहों का नाम बदलने के साथ ही जहां अब अतिथियों को लजीज व्यंजन, ताजे फलों का जूस, अंकुरित सलाद परोसे जाएंगे वहीं ऑन लाइन रिर्जवेशन की सुविधा भी उपलब्ध होगी। अव्यवस्थाओं के लिए बदनाम यूपी भवन संगम में यह प्रयोग किया जा रहा है। यूपी भवन का नाम बदला तो व्यवस्थाओं में भी सुधार हुआ है। पहले यूपी भवन संगम में आने वालों को हर तरह की अव्यवस्थाओं खराब खाने की गुणवत्ता, बदबू मारते कमरों की दुर्गधं से सामना करना पड़ता था। अब यूपी भवन संगम काफी बदल गया है। खाने की गुणवत्ता से लेकर साफ-सफाई आदि व्यवस्थाओं में काफी सुधार हुआ है।

    राज्य सम्पत्ति विभाग के भरोसेमंद सूत्रों के मुताबिक राज्य सम्पत्ति विभाग के अधीन लखनऊ में छह, दिल्ली में तीन, मुम्बई में एक और कोलकाता में एक राजकीय अतिथि गृह हैं। इस तरह कुल 11 अतिथि गृह हैं। सरकार ने पहले इन सभी अतिथि गृहों का नाम बदला और अब इनमें व्यवस्थाओं को सुधारने की कार्ययोजना पर काम शुरू हो गया है।
    राज्य सम्पत्ति अधिकारी बी.के. सिंह का कहना है कि सरकार की मंशा के मुताबिक पायलेट प्रोजेक्ट के तहत दिल्ली स्थिति यूपी भवन संगम में काफी बदलाव किए गए हैं। व्यंजन मैन्यू में आमूच-चूल परिवर्तन किए गए हैं। पहले मात्र एक थाली का खाना आता था, जिसमें गुणवत्ता की उम्मीद नहीं की जा सकती थी। अब अथितियों को अंकुरित सलाद, ताजे फलों का जूस, विभिन्न प्रकार के व्यंजन पूरी साफ-सफाई के साथ नई कटोरी-प्लटों में परोसा जा रहा है। इसके साथ ही कमरों से लेकर रिसेप्शन और कॉरीडोर की सफाई-व्यवस्था चॉक-चौबंद की गई है। साज-सज्जा भी जबरदस्त की गई है।

    इसके साथ ही यूपी भवन संगम में आने वाले अथितियों को सेविंग किट, डेंटल किट और स्लीपर की सुविधा भी उपलब्ध कराने की योजना है। ओपेन रेस्टोंरेट खोलने की योजना है, जिसमें आने वाले मंत्रियों, विधायकों, सांसदों और अन्य पात्र अथितियों को यूपी के हर जिलेवार गंवाई खाना भी उपलब्ध कराने की योजना है। इसके साथ ही कमरों की बुकिंग की ऑन लाइन सुविधा शुरू करने की योजना है। किसी भी अथिति को कमरे की बुकिंग की सूचना उसके मोबाइल और वाट्सअप पर कमरे के नम्बर के साथ प्रदान की जाएगी। आगामी छह माह में काफी बदलाव किए जाएंगे।
    यूपी भवन संगम के व्यवस्थाधिकारी डा. दिनेश करुश ने बताया कि अभी उनकी कुछ माह पूर्व तैनाती हुई है। राज्य सम्पत्ति अधिकारी के दिशा-निर्देश पर सुधार के कार्य किए जा रहे हैं। अथितियों को कोई असुविधा न हो उस पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

    RELATED ARTICLES
    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments