Monday, October 3, 2022
More
    Homeउत्तर प्रदेशपुलिस पर नाकामी का आरोप लगाते हुए दो विधायक बैठे धरने पर

    पुलिस पर नाकामी का आरोप लगाते हुए दो विधायक बैठे धरने पर

    झांसी। उत्तर प्रदेश की वीरांगना नगरी झांसी में मतदान से एक दिन पहले शनिवार को नवाबाद थाना परिसर में हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिला जब पुलिस पर उचित कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए गरौठा और बबीना के भारतीय जनता पार्टी विधायक अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गये। बबीना विधायक राजीव सिंह पारीछा और गरौठा विधायक जवाहर सिंह राजपूत अपने सर्मथकों के साथ नवाबाद थाने पहुंचे। उन्होंने आरोप लगाया क्षेत्र में अपराधी सक्रिय हो गए हैं और जनता को डरा धमका रहे है। उनके वोट को खरीदने के लिए शराब और पैसा पानी की तरह बहाया जा रहा है। बीते रोज शराब और पैसा बांटते हुए पकड़े जाने के बाद भाजपा कार्यकर्ता के घर में घुसकर मारपीट की गई। वही पुलिस के कुछ अधिकारी उनके साथ मिले हुए हैं और चुनाव को प्रभावित कर रहे हैं।

    विधानसभा चुनाव 2022 के तीसरे चरण के मतदान के लिए महज 24 घंटे भी नहीं बचे है। उधर जिले की चर्चित विधानसभा सीट बबीना और गरौठा में आरोप-प्रत्यारोप के दौर शुरू हो गए हैं। मोठ थाना क्षेत्र में बीते रोज समाजवादी पार्टी और भाजपा पार्टी के समर्थकों के बीच मारपीट की घटना के बाद आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। विधायक जवाहर लाल राजपूत ने आरोप लगाया कि बीते रोज समाजवादी पार्टी के अराजक तत्व मतदाताओं को लुभाने के लिए शराब और पैसा बांट रहे थे। भाजपा के लोगों ने इसकी शिकायत की। साथ ही आरोपियों को रंगे हाथों पकड़ा गया। इसकी शिकायत करने पर पुलिस ने पहुंचकर आरोपितों को छुड़ाने का काम किया और देर रात समाजवादी पार्टी के लोगों ने करीब 30-40 गाड़ियां लेकर एक भाजपा कार्यकर्ता विपिन पाठक के घर पर हमला बोल दिया। पुलिस मामले को अनदेखा कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस अपराधियों को संरक्षण देने का काम कर रही है जबकि उन्हें इस समय जेल में होना चाहिए था।

    वहीं बबीना विधायक राजीव सिंह ने बताया कि समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता चुनाव में अराजकता का माहौल बनाए हुए है जिससे पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल बना हुआ है। मतदाताओं को डराया धमकाया जा रहा है और इसी को लेकर शुक्रवार को इन्होंने मोठ में भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट कर दी। यह निंदनीय है। जब तक मामला दर्ज नही होता तब तक धरने से नही हटेंगे। सूचना मिलते ही एसएसपी शिवहरि मीणा,एसपी सिटी विवेक त्रिपाठी समेत भारी पुलिस बल नाबाबाद जा पहुंचा। काफी मशक्कत के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिए जाने पर दोनों विधायकों ने धरना समाप्त करते हुए अपने क्षेत्र के लिए प्रस्थान किया।

    RELATED ARTICLES
    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments