Monday, May 16, 2022
More
    Homeउत्तर प्रदेशमुख्यमंत्री के साथ तीन उप मुख्यमंत्री तथा 20-28 कैबिनेट मंत्री ले सकते...

    मुख्यमंत्री के साथ तीन उप मुख्यमंत्री तथा 20-28 कैबिनेट मंत्री ले सकते हैं शपथ

    लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में प्रचंड बहुमत के साथ उत्तर प्रदेश में सत्ता की वापसी का रिकार्ड बनाने वाली भाजपा की सरकार बनने की औपचारिकता ही शेष है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दो दिन के दिल्ली दौरे में भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से भेंट के बाद मंत्रिमंडल के गठन की घोषणा ही बाकी है। दिल्ली में सीएम योगी आदित्यनाथ की पीएम मोदी, भाजपा अध्यक्ष नड्डा, भाजपा के थिंक टैंक अमित शाह तथा बीएल संतोष के साथ बैठक के बाद काफी कुछ तय हो चुका है।

    उत्तर प्रदेश की नई सरकार के गठन की तारीख तथा मंत्रिमंडल में शामिल होने वालों के नाम की औपचारिक घोषणा ही बाकी है। माना जा रहा है कि इस बार तीन उप मुख्यमंत्री भी पद की शपथ लेंगे। दोनों उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा डा. दिनेश शर्मा को संगठन के काम की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। तीन उप मुख्यमंत्री बनाने का मकसद जातीय तथा क्षेत्रीय समीकरण साधने की कवायद है। अब तो मिशन 2024 को लेकर बेहद गंभीर भाजपा उत्तर प्रदेश में तीन डिप्टी सीएम बनाकर बड़ा लक्ष्य साधने के प्रयास में है।

    उत्‍तर प्रदेश में डेढ़ करोड़ से अधिक लाभार्थियों को होगा फायदा।

    माना जा रहा है कि सीएम तथा तीन डिप्टी सीएम सहित कुल 62 मंत्री शपथ लेंगे। इसमें 28-30 कैबिनेट मंत्री होंगे। 11-12 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार तथा 23-24 राज्य मंत्री शपथ लेंगे। आगरा ग्रामीण से विधायक बनीं पूर्व राज्यपाल बेबी रानी मौर्या को डिप्टी सीएम बनाने की तैयारी है। इसके साथ ही एके शर्मा तथा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को भी डिप्टी सीएम का पद दिया जा सकता है।

    उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022: अजय मिश्रा उर्फ टेनी

    मंत्रिमंडल में सुरेश कुमार खन्ना के साथ सतीश माहाना, ब्रजेश पाठक, जितिन प्रसाद, सूर्य प्रताप शाही, सिद्धार्थनाथ सिंह, नंद गोपाल गुप्ता नंदी, श्रीकांत शर्मा, आशुतोष टंडन गोपाल जी, अनिल राजभर, संदीप सिंह तथा मोहसिन रजा का मंत्री बनना तय है। इनके साथ ही अपना दल तथा निषाद पार्टी के भी दो-दो विधायकों को मंत्री बनाया जाएगा। असीम अरुण, दयाशंकर सिंह, पंकज सिंह रामपाल वर्मा, अदिति सिंह तथा राजेश्वर सिंह को भी मंत्री बनाया जा सकता है। मंत्री रहे डाक्टर महेन्द्र सिंह को संगठन में वापस भेजने की तैयारी है।

    RELATED ARTICLES
    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments