राष्ट्रीय

Weather Update: पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर भारत में मौसम में बदलाव, इन राज्यों में लू और भीषण गर्मी की संभावना

Weather Update: पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर भारत में मौसम में बदलाव

नई दिल्ली।Weather Update उत्तर भारत में आने वाले दिनों में लोगों के लू से राहत मिलने के आसार है। दरअसल, पश्चिमी विक्षोभ के कारण मौसम में बदलाव आ रहा है। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले कुछ दिनों में उत्तर पश्चिम भारत के अलग-अलग हिस्सों में लू की स्थिति बनीं रह सकती है। IMD के मुताबिक 16 अप्रैल तक पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली के अलग-अलग स्थानों पर हीट वेव की संभावना है।

इन इलाकों में 17 और 18 अप्रैल को और गंभीर लू चलने की संभावना है। हिमाचल प्रदेश में शुक्रवार को कुछ स्थानों पर बारिश होने की संभावना है। 16 व 17 अप्रैल को धूप खिलेगी जबकि 18 अप्रैल से पश्चिमी विक्षोभ फिर सक्रिय होगा। 19 से 21 अप्रैल तक प्रदेश में बारिश की संभावना। इससे गर्मी से राहत मिलने के साथ सूखे से भी कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। वहीं पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश, झारखंड, गुजरात और दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों में लू की संभावना है। 

Weather Update

Weather Update इस बार खूब सताएगी गर्मी, टूटेगा रिकार्ड

Weather Update इस बार अप्रैल की शुरुआत से ही गर्मी अपने चरम पर रही। पारा 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक तापमान पर पहुंच चुका है, जबकि अप्रैल माह में 16 दिन शेष हैं। अप्रैल के रिकार्ड से सिर्फ चार डिग्री दूर है पारा। मौसम विशेषज्ञों ने इस वर्ष अधिक गर्मी की आशंका जताई है। जिससे अप्रैल में भीषण गर्मी का रिकार्ड इस बार टूट भी सकता है। 22 अप्रैल 2010 का दिन अप्रैल के सबसे गर्म दिन के रूप में रिकार्ड है। उस दिन का अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस था। पिछली बार अप्रैल में 40 डिग्री से ऊपर के पांच दिन थे, इस बार 10 से अधिक होने का अनुमान।

इन इलाकों में आई आंधी

मौसम विभाग द्वारा जारी सूचना के मुताबिक उत्तरी दिल्ली, उत्तर-पश्चिम दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली, दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के कुछ इलाकों और आस-पास के क्षेत्रों करनाल, राजौंद, असंध, सफीदों, पानीपत, झज्जर, फारुखनगर, रेवाड़ी, नूंह (हरियाणा) नजीबाबाद, मुजफ्फरनगर, बिजनौर (यूपी) में 30-40 किमी / घंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं.

इन राज्यों में भारी बारिश की संभावना

स्काईमेट वेदर के मुताबिक आज असम, अरुणाचल प्रदेश और मेघालय के कुछ हिस्सों में भारी से बहुत भारी बारिश के साथ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। पूर्वोत्तर भारत के बाकी हिस्सों, केरल, तमिलनाडु, दक्षिण कर्नाटक और लक्षद्वीप में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और लद्दाख में कुछ स्थानों पर मध्यम बारिश हो सकती है। वहीं छत्तीसगढ़, दक्षिण ओडिशा, उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और दक्षिण मध्य महाराष्ट्र में छिटपुट हल्की बारिश संभव है। Weather Update

भारत में लगातार चौथे साल मानसून सामान्य रहने की संभावना
  • मौसम विभाग के मुताबिक इस साल जून-सितंबर अवधि के दौरान अनुकूल ‘ला नीना’ स्थिति बने रहने के अनुमान के साथ ही देश में लगातार चौथे साल दक्षिण-पश्चिम मानसून सामान्य रहने की संभावना है। देश में 2019, 2020 और 2021 में भी चार महीने के दक्षिण-पश्चिम मानसून मौसम में सामान्य वर्षा हुई थी।
  • आइएमडी के अनुसार, इस साल दक्षिण-पश्चिम मानसून के दौरान 1971-2020 की अवधि के 87 सेंटीमीटर दीर्घावधि औसत (एलपीए) के मुकाबले 96 से 104 प्रतिशत बारिश होने की संभावना है। विभाग ने कहा कि मात्रत्मक दृष्टि से जून से सितंबर तक मानसूनी वर्षा एलपीए का 99 प्रतिशत रह सकती है जिसमें पांच प्रतिशत उतार-चढ़ाव की संभावना है। 

Read more:IPL 2022: गुजरात के सामने ये हो सकती है राजस्थान की प्लेइंग इलेवन, चहल की गेंदबाजी पर रहेगी नजर

E-paper:http://www.divyasandesh.com

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button