Wednesday, December 7, 2022
More
    Homeउत्तर प्रदेशRam Navami: के विशेष उपलक्ष्य पर 800 से ज्यादा भक्तों ने की...

    Ram Navami: के विशेष उपलक्ष्य पर 800 से ज्यादा भक्तों ने की “आनंद की खोज”

    मोहनलालगंज लखनऊ

    श्री श्री राधारमण बिहारी (इस्कॉन) मंदिर सेक्टर: एफ, सुशांत गोल्फ सिटी शहीद पथ सुल्तानपुर रोड लखनऊ में शनिवार,रविवार को श्रीमद् भगवद्गीता द्वि दिवसीय सेमिनार (आनंद की ओर) का आयोजन किया गया। (Ram Navami) जिसके क्रमानुसार दूसरे दिन मंदिर अध्यक्ष श्रीमान अपरिमेय श्यामदास प्रभु जी ने बताया कि! हिंदू धर्म के 33 करोड़ देवी देवताओं में से परम् पुरुषोत्तम श्रीकृष्ण ही मूल हैं।

    Ram Navami
    Ram Navami

    जिन्हें मुस्लिम धर्म में में अल्लाह और ईसाई धर्म में गॉड के नाम से जाना जाता है।उन्होंने आगे बताया कि आध्यात्मिक दृष्टि से देखने पर यह ज्ञात होता है कि अच्छे लोगों के साथ बुरा तथा बुरे लोगों के साथ अच्छा कभी नहीं हो सकता। यह तभी तक रहता है जब तक व्यक्ति के पुण्य उसके साथ रहते हैं।उन्होंने बताया कि यदि हम आध्यात्मिक दृष्टि से देखें तो सभी धर्मों में समान शिक्षा दी गई है,जिस तरह कुरान के अनुसार अल्लाह ही परम् ईश्वर है बाइबिल के अनुसार ईसा मसीह ही परमेश्वर हैं ठीक उसी प्रकार भगवद गीता के अनुसार परम् पुरुषोत्तम श्रीकृष्ण ही परम् ईश्वर हैं।

    अलग अलग धर्मों में उनको अलग अलग नामों से जाना जाता है। (Ram Navami) जिस तरह सूर्य एक ही होता है लेकिन अलग अलग जगह पर अलग अलग भाषा में उसको अलग अलग नाम दिया गया है ठीक उसी तरह ईश्वर भी एक ही है उसे अलग अलग नामों के द्वारा पुकारा जाता है कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्रीमान डी. के. दोहरे जी,जिला विकास अधिकारी,लखनऊ,ने दीप प्रज्वलित कर के कार्यक्रम का शुभारंभ किया, एवम् कार्यक्रम में शहर की मशहूर हस्तियों एवं 800 से ज्यादा भक्तों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई,और अंत में बच्चों के लिए मिक्की माउस झूला की व्यस्था की गई एवम् सभी भक्तों ने भोजन प्रसादम,व्रत प्रसाद एवम् गर्मियों को ध्यान में रखते हुए विशेष आइस क्रीम प्रसाद की विशाल व्यवस्था की गई जिसका शहर भर के भक्तों ने भरपूर आनंद उठाया।

    Read more:Swachh Bharat Abhiyan:स्वच्छ भारत अभियान की कर्मचारी उड़ा रहे धज्जियां

    E-paper:http://www.divyasandesh.com

    RELATED ARTICLES
    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments